Historical Date Sequence of Jharkhand In Hindi

Historical Date Sequence of Jharkhand यह क्षेत्र पाषाण युग से बसा हुआ है। ताम्रपाषाण काल के तांबे के उपकरण 3000 ईसा पूर्व से अधिक पुराने साबित होने वाले मेगालिथ का एक समूह भी बड़कागांव में पाया गया था, लगभग सबसे पहले रेडियो कार्बन डेटिंग इस साइट के लिए 1401-837 ईसा पूर्व की सीमा देती है।

Historical Date Sequence of Jharkhand ई. पू.

  • 6000 4000 संभवतः असूरों का झारखण्ड में प्रवेश
  • 4000-3000 ताम्बे का आविष्कार झारखण्ड में यह 4000 ई. पू. से 3000 ई. पू. के बीच सिंहभूम क्षेत्र में हुआ।
  • 3000-2000 झारखण्ड में कांस्य युग। असुर, बिरहोर एवं बिरजिया ताम्बा युग से होते कांस्य युग और लौह-युग तक आये।
  • 2000-1000 झारखण्ड का लौह युग।
  • 1500 नवपाषाणकालीन संस्कृति झारखण्ड में आयी।
  • 717 जैन धर्म के 23वें तीर्थकर पार्श्वनाथ का गिरिडीह जिले में निर्वाण
  • 600 एस.सी. राय के अनुसार झारखण्ड में मुढाओं का प्रवेश / बौद्ध एवं जैन धर्म झारखण्ड में प्रसार / असुरों से मुंडाओं का संघर्ष
  • 250 मौर्य सम्राट अशोक द्वारा अपने सीमावर्ती राज्य आटविक (जिसमे झारखण्ड भी था) के लिए रक्षित के नेतृत्व में धर्म प्रचारक दल भेजा गया।

Historical Date Sequence of Jharkhand ई.सन्

  • 335-540 समुद्रगुप्त के आटविक विजय के फलस्वरूप झारखण्ड क्षेत्र उसके नियंत्रणाधीन।
  • 602-25 झारखण्ड गौड़ शासक शशांक के नियंत्रणाधीन।
  • 606-47 हर्षवर्द्धन के विस्तृत राज्य में काजागल (राजमहल) का छोटा राज्य भी शामिल 1857 हर्षवर्द्धन का चीनी यात्री हवेगसांग से प्रथम भेंट कांजांगल में।
  • 8वीं सदी सिंह वंश की पहली शाखा की स्थापना काशीनाथ सिंह के नेतृत्व में 1122
  • 1204-05  छोटानागपुर खास के नागवंशी शासक भीमकर्ण द्वारा चुटिया के स्थान पर खुखरा राजधानी बनाया गया। कुतबुद्दीन ऐबक के सेनापति बख्तियार खलजी का बिहार अभियान के बाद झारखण्डके रास्ते बंगाल का अभियान।
  • 1205 सिंहभूम के सिंह वंश की दूसरी शाखा की स्थापना दर्पनारायण सिंह के नेतृत्व
  • 1262- 71 दर्पनारायण सिंह के उत्तराधिकारी युधिष्ठिर का शासन काल ।
  • 1310 दिल्ली के खलजी वंशी सुल्तान अलाउद्दीन खलजी के सेनापति छज्जू छोटानागपुर खास के नागवंशी शासक से कर वसूलना।
  • 1340 दिल्ली के तुगलक वंशी सुल्तान मुहम्मद बिन तुगलक के सेनापति मलिक (संथाली स्रोत के अनुसार-इब्राहिम अली) का हजारीबाग के चाई-चप्पा क्षेत्र पर आक्रम
  • 1360 झारखण्ड क्षेत्र तुकों द्वारा पदाक्रांत, फिरोज का बिहार अभियान।
  • 1575 झारखण्ड क्षेत्र मुगलों द्वारा पदाक्रांत |
  • 1765 संथाल परगना को ब्रिटिश शासन के अंतर्गत लाने हेतु सफल सैन्य अभियान
  • 1771 झारखण्ड क्षेत्र ईस्ट इंडिया कंपनी के अधीन आया।
  • 1772-82 पहाड़िया विद्रोह।
  • 1781 सर्वेश्वरी देवी का विद्रोह।
  • 1784 बाबा तिलका मांझी का विद्रोह
  • 1785 भागलपुर में तिलका मांझी को फांसी दी गयी।
  • 1795-1810 तमाड़ विद्रोह
  • 1797 बूंदी में मुण्डा विद्रोह, नेता- विष्णु मानकी।
  • 1798 बीरभूम-बांकुडा में चुआड़ विद्रोह
  • 1798-99 मानभूम का भूमिज विद्रोह
  • 1800 पलामू में चेरो का विद्रोह नेता -भूखन सिंह
  • 1800-02 तमाड़ में दुखन मानकी के नेतृत्व में मुण्डा विद्रोह
  • 1809 जमींदारी पुलिस बल का गठन।
  • 1820 तमाड़ में मुण्डा (कोल) विद्रोह, नेता रूगु देव एवं कोनता मुंडा।
  • 1820-21 हो विद्रोह
  • 1824 दामिन ए कोह का गठन।
  • 1831-32 कोल विद्रोह, नेता सिंदराय मानकी एवं बिंदराय मानकी।
  • 1832-33 भूमिज विद्रोह, नेता- गंगा नारायण सिंह
  • 1832-33 भागीरथ, दुबइ गोसाई और पटेल सिंह के नेतृत्व में खरवार विद्रोह शामिल
  • 1833 साउथ वेस्ट फ्रंटियर एजेंसी की स्थापना।
  • 1845 झारखण्ड क्षेत्र में क्रिश्चियन सम्प्रदाय का प्रवेश।
  • 1855-56 संथाल विद्रोह, नेता सिदो-कान्हू मुर्मू
  • 1856 पुलिस बल की स्थापना।
  • 1857 झारखण्ड क्षेत्र में सिपाही विद्रोह नेता विश्वनाथ शाही, गणपत राय, शेख भिखारी टिकैत उमरांव सिंह, नीलाम्बर-पीताम्बर, जयमंगल पाण्डेय, नादिर अली आदि।
  • 1859 छाटानागपुर प्रमंडल में खरीद-बिक्री कानून और छोटानागपुर काश्तकारी अधिनियम लागू
  • 1872 संथाल परगना बंदोबस्ती नियम लागू ।
  • 1874 भागीरथी मांझी के नेतृत्व में खरवार आंदोलन।
  • 1878 छोटानागपुर में सरदारी आंदोलन एवं भारतीय वन कानून
  • 1895-1900 मुंडा आंदोलन, नेता- बिरसा मुंडा
  • 1903 जयपाल सिंह का जन्म।
  • 1907 जमशेदजी टाटा द्वारा जमशेदपुर में इस्पात कारखाने की स्थापना।
  • 1908 छोटानागपुर काश्तकारी संशोधन कानून लागू जमीन के हस्तांतरण पर रोक
  • 1911 टिस्को में उत्पादन प्रारंभ |
  • 1912 बंगाल से बिहार और उड़ीसा अलग।
    • जे. बाथलमन द्वारा स्टुडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन की स्थापना।
  • 1914 ताना भगत आंदोलन नेता जतरा भगत ।
  • 1915 छोटानागपुर उन्नति समाज का गठन।
    • आदिवासी शीर्षक पत्रिका का प्रकाशन प्रारंभ
  • 1916 मौलाना अबुल कलाम आजाद रांची में नजरबंद (31 मार्च 1916 से 31 दिसम्बर 1919)
  • 1997 गांधीजी का रांची आगमन।
  • 1925 महात्मा गांधी द्वारा झारखंड के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा।
    • गांधीजी का हजारीबाग में पहली बार आगमन।
    • गांधीजी का देवधर में पहली बार आगमन। इस दौरान उन्होंने मधुपुर में एक नगर भवन का उद्घाटन किया।
  • 1928 साइमन कमीशन का रांची आगमन जुएल लकड़ा के नेतृत्व में छोटानागपु समाज द्वारा ज्ञापन ।
    • सुभाष चन्द्र बोस ने जमशेदपुर मजदूर हड़ताल को समाप्त कराने में और मजदूरों प्रबंधन के बीच समझौता कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी।
  • 1929 झरिया में AITUC का अधिवेशन, जिसमें जवाहर लाल नेहरू को अध्यक्ष चुना गया ।
  • 1930 नमक सत्यतरह आंदोलन नेता सहदेव महतो मोहन महतो गोकुल महतो गणेश महतो आदि
    • किसान सभा की स्थापना अध्यक्ष ठेबेल उरांव, और सचिव-पाल दयाल ।
  • 1931 रांची में राजभवन का निर्माण
  • 1933 इग्नेस बैंक के नेतृत्व में छोटानागपुर कैथोलिक सभा गठन।
  • 1936 बिहार से उड़ीसा अलग।
  • 1937 कामख्या नारायण सिंह रामगढ़ रियासत पर सतारूढ हुए।
  • 1938 आदिवासी महासभा का गठन।
    • स्वामी सहजानंद सरस्वती की संथाल परगना की यात्रा
  • 1940 कांग्रेस का 53वां अधिवेशन रामगढ़ में सम्पन्न
  • 1941 पंडित रघुनाथ मुर्मू द्वारा संथाल लिपि ओलधिकी का सृजन
  • 1942 भारत छोड़ो आंदोलन नेता चूनाराम महतो, गोविन्द महतो आदि।
    • रामगढ़ छावनी की स्थापना
    • जयप्रकाश नारायण अपने पांच साथियों के साथ हजारीबाग केन्द्रीय कारा से फरार ।
  • 1948 दामोदर घाटी निगम की स्थापना।
    • खरसावां आंदोलन (झारखण्ड आंदोलन ) 
  • 1950 जयपाल सिंह के नेतृत्व में झारखण्ड पार्टी का गठन
    • रामगढ़ के राजा कामख्या नारायण सिंह द्वारा छोटानागपुर संथाल परगना जनता की स्थापना
  • 1952 बिहार विधानसभा में झारखण्ड पार्टी को 33 सीटें मिली और मुख्य विपक्षी दल बना
    • आचार्य विनोबा भावे की झारखण्ड यात्रा भू-दान आन्दोलन के संबंध में।
  • 1955 अलग झारखण्ड राज्य के गठन के लिए राज्य पुनर्गठन आयोग के समक्ष प्रदर्श नेता जयपाल सिंह
  • 1956 मानभूम जिला को छोटानागपुर से अलग कर पश्चिम बंगाल में मिलाया गया।
  • 1957 रांची आकाशवाणी केन्द्र की स्थापना।
  • 1958 प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू का टिस्को की स्वर्ण जयंती के अवसर पर जमशेदपुर आगमन।।
  • 1959 छोटानागपुर संथाल परगना जनता पार्टी का स्वतंत्र पार्टी में विलय।
  • 1960 रांची विश्वविद्यालय की स्थापना।
  • 1961 सीताराम जगतराम ने पहली बार बिहार विधान परिषद में पृथक झारखण्ड राज्य गठन के लिए भारत सरकार से आग्रह करने हेतु सदन में प्रस्ताव
  • 1963 झारखण्ड पार्टी का कांग्रेस में विलय
    • जयपाल सिंह बिहार के सामुदायिक विकास मंत्री बने।
    • एच.ई.सी. कारखाने का प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू द्वारा उद्घाटन।
  • 1964 प्रजा सोशलिस्ट पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन रामगढ़ में सम्पन्न।
  • 1965 चेकोस्लोवाकिया के प्रधान मंत्री जोसेफ लेनार्ट का रांची आगमन।
    • बिरसा सेवा दल की स्थापना।
  • 1967 बिहार में महामाया प्रसाद सिन्हा के नेतृत्व में गठित प्रथम गैर कांग्रेसी मंत्रिमण्डल में झारखण्ड के कामख्या नारायण सिंह, बसंत नारायण सिंह एवं रामदेव महतो कैबिनेट मंत्री बनाये गये।
    • अखिल भारतीय झारखण्ड पार्टी की स्थापना।
  • 1968 कार्तिक उरांव के नेतृत्व में अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद की स्थापना।
    • हुल झारखण्ड पार्टी की स्थापना।
  • 1969 ईरान के शाह रजा पहलवी का रांची आगमन
    • वनवासी कल्याण केन्द्र की स्थापना।
    • सीमांत गांधी खान अब्दुल गफ्फार खां का रांची आगमन
  • 1970 शिबू सोरेन द्वारा सोनोत संथाल समाज की स्थापना।
    • जयपाल सिंह का निधन।
  • 1971 ए.के. राय द्वारा अलग झारखण्ड राज्य की मांग हेतु M.C.C. (मार्क्ससिस्ट कोऑर्डिनेशन कमेटी) का गठन।
    • छोटानागपुर और संथाल परगना विकास प्राधिकार का गठन
  • 1972 रांची संग्रहालय की स्थापना ।
  • 1973 एन.ई. होरो ने अपनी पार्टी का नाम झारखण्ड पार्टी रखा और अलग झारखण्ड राज्य हेतु 12 मार्च को तत्कालीन प्रधानमंत्री को एक ज्ञापन सौंपा।
    • शिबू सोरेन एवं विनोद बिहारी महतो के नेतृत्व में झारखण्ड मुक्ति मोर्चा गठित
  • 1976 रांची क्षेत्रीय विकास प्राधिकार की स्थापना
    • रांची में पटना हाईकोर्ट के खण्डपीठ की स्थापना।
  • 1977 झारखण्ड पार्टी द्वारा प्रस्तावित झारखण्ड राज्य में बिहार राज्य के छोटानागपुर तथा संथाल परगना सहित बंगाल के सटे हुए क्षेत्र भी शामिल।
  • 1978 भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा झारखण्ड आंदोलन का समर्थन।
    • झारखण्डी नेता शक्ति नाथ महतो की हत्या।
    • अखिल भारतीय झारखण्ड पार्टी का सम्मेलन 21 मई को सम्पन्न
    • 9 जून को बिरसा दिवस के रूप में मनाया गया।
  • 1979 सोवियत संघ के प्रधानमंत्री कोसीगिन का राची आगमन।
    • रांची नगर निगम की स्थापना।
  • 1981 बिरसा कृषि विश्वविद्यालय का प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा उद्घाटन।
    • रांची विश्वविद्यालय में जनजातीय एवं क्षेत्रीय भाषा विभाग की स्थापना डॉ. मुंडा प्रथम विभागाध्यक्ष बनाये गये।
    • वरिष्ठ आदिवासी नेता व केन्द्रीय संचार मंत्री कार्तिक उरांव का निधन।
  • 1983 रांची जिले को विभाजित कर मुमला एवं लोहरदगा दो नये जिले बनाये गये।
  • 1984 झारखण्ड में प्रथम दूरदर्शन केन्द्र की रांची में स्थापना।
  • 1985 पोप जॉन पॉल द्वितीय का रांची आगमन।
    • कांग्रेस (ई) के विधायक देवेन्द्र नाथ धम्पिया द्वारा 52 विधायकों के हस्ताक्षर से छोटानागपुर क्षेत्र को केन्द्रीय प्रशासन के अधीन सौंपने की मांग।
  • 1986 ऑल झारखण्ड स्टूडेण्ट यूनियन (आजसू) का गठन।
    • 25 सितंबर को ऑल झारखण्ड स्टूडेंट्स यूनियन (AJSU) मे झारखण्ड बंदआह्वान किया, जो पूर्णतः सफल रहा।
  • 1987 स्वतंत्रता दिवस के बहिष्कार का आह्वान भारत के गृहमंत्री ने बिहार सरकार को 2003 छोटानागपुर तथा संथाल परगना के जिलों से संबंधित विस्तृत प्रतिवेदन तैयार करने का निर्देश दिया।
    • झारखण्ड समन्वय समिति का गठन।
  • 1988 भाजपा द्वारा वनांचल राज्य की मांग
  • 1989 बी.एस. लाली के नेतृत्व में 24 सदस्यीय झारखण्ड विषयक समिति का गठन
    • आजसू (AJSU) द्वारा 72 घंटे की आर्थिक नाकेबंदी, जो पूर्णत सफल रही।
    • झारखण्ड मुक्ति मोर्चा द्वारा 6 दिनों की सफल आर्थिक नाकेबंदी
  • 1991 झारखण्ड पीपुल्स पार्टी का गठन।-
    • बिहार विधानसभा में झारखण्ड क्षेत्र विकास परिषद विधेयक पारित
    • झामुमो के संस्थापक विनोद बिहारी महतो का नयी दिल्ली में निधन।
  • 1992 विनोबा भावे (हजारीबाग) एवं सिदो-कान्हू (दुमका) विश्वविद्यालय की स्थापना।
    • झारखण्ड मामलों की समिति ने झारखण्ड जनरल कौसिल के गठन का सिफारिश की।
  • 1994 बिहार विधानसभा ने झारखण्ड क्षेत्रीय स्वायत्तशासी परिषद् गठन संबंधी विधेयक पारित किया।
  • 1995 झारखण्ड क्षेत्र स्वशासी परिषद (जैक) गठन, शिबू सोरेन अध्यक्ष और सूरज मंडल उपाध्यक्ष मनोनीत
  • 1997 बिहार विधानसभा में अलग झारखण्ड राज्य संबंधी प्रस्ताव पारित
    • बिहार सरकार ने झारखण्ड स्वायत्त परिषद के चुनाव हेतु 24 करोड़ रुपये पारित किये।
    • विधानसभा से अलग झारखण्ड राज्य विधेयक पारित करने की शर्त पर लालू प्रसाद की अल्पमत सरकार को समर्थन देने हेतु शिबू सोरेन राजी
  • 1998 बिहार पुनर्गठन विधेयक पर चर्चा हेतु बिहार विधानमंडल का तीन दिनों का विशेष सत्र आमंत्रित
  • 2000 लोक सभा में अलग झारखण्ड राज्य से संबंधित बिहार राज्य पुनर्गठन विधेयक अगस्त, 2000 को पारित
    • राज्य सभा में 11 अगस्त 2000 को झारखण्ड राज्य विधेयक पारित
    • राष्ट्रपति द्वारा 25 अगस्त 2000 को झारखण्ड राज्य विधेयक को स्वीकृति
    • 12 अक्टूबर को केन्द्र ने अपने प्रकाशित गजट में 15 नवम्बर की तिथि से झारख सरकार की स्थापना की अधिसूचना जारी की।
    • 15 नवम्बर, 2000 को देश के 28वें राज्य के रूप में झारखण्ड राज्य का गठन।
    • बाबूलाल मरांडी झारखण्ड राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री बने।
    • झारखण्ड उच्च न्यायालय का गठन।
  • 2001 झारखण्ड राज्य विद्युत बोर्ड का गठन
    • राज्य का पहला बजट पेश
    • विशेश्वर खां प्रथम उत्कृष्ट विधायक पुरस्कार से सम्मानित।
    • लातेहार, जामताड़ा, सिमडेगा तथा सरायकेला-खरसवां जिलों का गठन।
  • 2002 झारखण्ड लोक सेवा आयोग का गठन
    • हेमलाल मुर्मू उत्कृष्ट विधायक पुरस्कार से सम्मानित |
  • 2003 बाबूलाल मरांडी सरकार का पतन।
    • अर्जुन मुंडा राज्य के दूसरे मुख्यमंत्री बने।
    • राजेन्द्र प्रसाद सिंह उत्कृष्ट विधायक पुरस्कार से सम्मानित।
  • 2004 14वीं लोक सभा का चुनाव राज्य में दो चरणों में सम्पन्न।
    • 1975 के चीरूडीह नरसंहार मामले में शिबू सोरेन न्यायिक हिरासत में भेजे गये।
    • लक्ष्मण उरांव झारखण्ड के पहले लोकायुक्त नियुक्त
    • 24वां राधाकृष्ण पुरस्कार रतन वर्मा को प्रदान किया गया।
    • पिछड़ा वर्ग राज्य आयोग का गठन
    • मुख्यमंत्री कन्यादान योजना का शुभारंभ।
    • जी. कृष्णन झारखण्ड वित्त आयोग के प्रथम अध्यक्ष बने।
    • 34वां राष्ट्रीय खेल 2007 के आयोजन का अधिकार झारखण्ड को मिला।
    • गोकुल ग्राम योजना का शुभारंभ |
    • डॉ. दिलीप प्रसाद झारखण्ड लोक सेवा आयोग के नियमित अध्यक्ष नियुक्त
    • लोकनाथ महतो उत्कृष्ट विधायक पुरस्कार से सम्मानित |
    • महेन्द्र सिंह धोनी ने बांग्लादेश के खिलाफ मैच खेलकर अपने एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट कैरियर की शुरुआत की।
  • 2005 भाकपा (माले) विधायक का महेन्द्र सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गयी।
    • झारखण्ड विधानसभा का प्रथम चुनाव तीन चरणों में सम्पन्न ।
    • शिबू सोरेन राज्य के तीसरे मुख्यमंत्री बने।
    • अर्जुन मुंडा राज्य के चौथे मुख्यमंत्री बने।
    • सरयू राय राज्य योजना परिषद के उपाध्यक्ष नियुक्त |
    • अन्नपूर्णा देवी उत्कृष्ट विधायक पुरस्कार से सम्मानित
    • उत्कृष्ट लोक सेवक पुरस्कार से सम्मानित।
    • 25वां राधाकृष्ण पुरस्कार राकेश कुमार सिंह को प्रदान किया गया।
    • जनजातीय परामर्शदातृ परिषद का गठन। गुरु श्यामचरण पाती पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित |
  • 2006 गुरु श्यामचरण पाती पदमश्री पुरस्कार से समनित |
    • झारखण्ड राज्य जनजाति आयोग का गठन।
    • धनबाद में नगर निगम का गठन ।
    • राज्य में मूल्यवर्द्धित कर प्रणाली (वैट) लागू ।
    • अर्जुन मुंडा सरकार का पतन ।
    • मधु कोड़ा राज्य के पहले निर्दलीय मुख्यमंत्री बने।
    • राधाकृष्ण किशोर उत्कृष्ट विधायक पुरस्कार से सम्मानित।
  • 2007 झामुमो सांसद सुनील महतो की बाधुडिया में नक्सलियों द्वारा निर्मम हत्या
    • पशुपति नाथ सिंह उत्कृष्ट विधायक पुरस्कार से सम्मानित |
    • खूंटी एवं रामगढ़ दो नये जिलों का गठन।
  • 2008 तमाड़ के जदयू विधायक रमेश मुंडा की नक्सलियों द्वारा निर्मम हत्या
    • मधु कोड़ा सरकार का पतन।
    • शिबू सोरेन दूसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने।
    • इन्दर सिंह नामधारी उत्कृष्ट विधायक पुरस्कार से सम्मानित।
  • 2009 शिबू सोरेन तीसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने।
    • राज्य में पहली बार राष्ट्रपति शासन लागू।
    • नीलाम्बर-पीताम्बर विश्वविद्यालय (पलामू) एवं कोल्हान विश्वविद्यालय (चाईबास ) की स्थापना।
  • 2010 शिबू सोरेन सरकार का पतन
    • राज्य में दूसरी बार राष्ट्रपति शासन लागू।
    • अर्जुन मुंडा तीसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने।
    • जनार्दन पासवान उत्कृष्ट विधायक पुरस्कार से सम्मानित
    • 32 वर्षों के पश्चात् पंचायत चुनाव सम्पन्न
  • 2011 माधव लाल सिंह उत्कृष्ट विधायक पुरस्कार से सम्मानित।
  • 2012 रघुवर दास उत्कृष्ट विधायक पुरस्कार से सम्मानित।
    • लाडली बिटिया वर्ष घोषित |
  • 2013 युवा एवं क्षमता विकास वर्ष ।
    • तीसरी बार झारखण्ड में राष्ट्रपति शासन लागू ( 18 जनवरी, 2013)
    • हेमन्त सोरेन ने पहली बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण की। (13 जुलाई, 2013)
  • 2014 16वीं लोकसभा आम चुनाव में भाजपा को भारी जीत कुल 14 सीटों में से 12 सीटों पर विजय
    • एन डी ए सरकार में सुदर्शन भगत केन्द्रीय राज्यमंत्री बने
    • विधानसभा चुनाव 2014 में भाजपा गठबंधन को पूर्ण बहुमत (भाजपा-37, आजसू
    • रघुवर दास राज्य के 10वे व पहले गैर आदिवासी मुख्यमंत्री बने। (28 दिसम्बर 2014)
  • 2015 दिनेश उरांव झरखण्ड विधानसभा के 10वें विधानसभा अध्यक्ष बने (9 जनवरी)
    • द्रौपदी मुरमू राज्य की 9वीं तथा पहली महिला राज्यपाल बनी (18 मई)
  • 2016 7 अप्रैल 2016 को राज्य की स्थानीयता नीति घोषित, राज्य में पिछले 30 वर्ष से वाले स्थानीय माने जायेंगे।

Item added to cart.
0 items - 0